कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण-Corona raksha kavach shiv puran-

कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण (Corona raksha kavach shiv puran)कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण - नमस्कार दोस्तों आप सब से उम्मीद है कि आपके भारत के अंदर चलती हुई बीमारी कोरोना से बचे होंगे और निरंतर कोई न कोई प्रयास करते होंगे कि कैसे आप कोरोना से बच सकते हैं।
"कोरोना रक्षा कवचम् शिव पुराण"
कोरोना बीमारी के दिनों में इंटरनेट और यूट्यूब के ऊपर सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला कीवर्ड बन गया है।

 इन संकट के दिनों में लोग अनेकों तरह के प्रयास कर रहे हैं। जिससे वह अपने आप को बचा सकें।

 सभी मनुष्य अपने पुराने ग्रंथों के अंदर कोई ना कोई उपाय खोज रहे हैं कि वह कैसे करो ना के कहर से बच सकते हैं। और यही मूर्ख लोग हमारे ग्रंथों को बदनाम कर रहे हैं।
कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण-Corona raksha kavach shiv puran
कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण-Corona raksha kavach shiv puran

 वह कुछ ना कुछ लिंक बनाकर व्हाट्सएप और अन्य जगहों पर शेयर कर रहे हैं। और बहुत सारे नुस्खे बता रहे हैं कि आप यह खा सकते हैं।आप कपूर अपने जेब में रखें इन सभी चीजों से आप कोरोना से बच सकते हैं। कोरोना आप से दूर ही रहेग।

 कई मूर्ख लोग और भी काम कर  रहे हैं। जैसे जल दूध यह सब चढ़ा रहे हैं। चीजें करने से करो ना भाग जाएगा यह कहा जा रहा है।

ऐसे ही एक खबर सामने आ रही है गुरुवार को ऐसे ही एक खबर हमारे सोशल मीडिया फेसबुक और व्हाट्सएप दोनों पर ही वायरल होता नजर नजर आ रहा है।

 इसमें आपको करना वायरस से बचने का उपाय बताया जा रहा है।कि आप शिव पुराण में वर्णित कोरोना रक्षा कवचम्का का जाप करें और जाप करके कोरोना वायरस से बचा जा सकता है।
 लेकिन जब जांच पड़ताल की तो पता लगा कि कोरोना रक्षा कवचम् शिव पुराण में हैं ही नहीं। कोरोना रक्षा कवचम् कोरोना का कोई संबंध ही नहीं है कोरोना वायरस के साथ।

कोरोना रक्षा कवचम्का शिव पुराण कासच क्या है।

कोरोना रक्षा कवचम्का शिव पुराण का सच्चाई का सच बताना जरूरी है कि जब महान पंडितों से पुछा गया तो पता चला कि यह खबर लोगों को भड़काने और गलत उद्देश्य फैलाया जा गया है।
Imps kya hota hai
 हसारे देश के कुछ दूसरे समाज के लोग करो ना वायरस को धर्म ग्रंथों के साथ जोड़कर बता रहे हैं।कुछ लोगों का कहना है कि करो ना कुरान से निकला है परंतु आपको यह जानना जरूरी है कि करो ना एक वायरस है।
 जो कि लोगों पर शरीर के संपर्क में आकर एक दूसरे में फैल जाता है। इसे हम छुआछूत की बीमारी भी कह सकते हैं। कठिन परिस्थिति में किसी भी प्रकार की गलत अफवाहों के चक्कर में ना आए कोई भी व्हाट्सएप पर आपको फोटो भेजता है।
 गलत अफवाह के तौर पर तो उसे आगे शेयर ना करें।अन्यथा आप को जेल भी हो सकती है। करोना वायरस से बचे रहने के लिए आप किसी भी प्रकार के बाहर के खाने का प्रयोग ना करें।

कोई भी प्रकार का खाना हो बाहर का उसे आप ना खाए घर में बनी हुई चीजें ही खाए अच्छे से हाथ धोए हर 2 घंटे 3 घंटे बाद अपना हाथ धोएं और सैनिटाइजर से हाथ को साफ करके रखें और रोज नहाए।

 अपने वस्त्र को रोज धोने कोई भी वस्त्र 1 दिन से ज्यादा ना पहनें क्योंकि अगर आप बाहर जाएंगे तो उस पर भी करो ना वायरस से होने का संकट हो सकता है।

 जितना हो सके आप घर में ही रहे घर से बाहर जाने की कोशिश ना करें क्योंकि यह बीमारी बहुत ही तेजी से फैल रही है। अगर आप बाहर जा रहे हैं खाने पीने का सामान लेने तो जरूर से मास्क पहनकर जाएं और एक मास को एक ही दिन पहले उसके बाद उसे फेंक दें और दूसरा मास्क उपयोग करें।

भारत में कोरोना वायरस का खौफ। और corona raksha kavach shiv puran 

भारत के अंदर कोरोना वायरस का खौफ बहुत ही ज्यादा हैं। कृपया करके जितना हो सके घरों के अंदर रहने की कोशिश करें और अपने अगल बगल वाले लोगों को भी घर के अंदर रहने के लिए प्रेरित करें और उनसे बिल्कुल भी ना मिले।यदि हो सके तो आप भूूूखऐ लोगो को कहना जरूर खििला दे ।

कोरोना रक्ष कवच शिव पुराण में नहीं है।

आपको यह जानना जरूरी है कि कोरोना एक इंग्लिश का शब्द है। किसी भी प्रकार से संस्कृत के शब्द भी नहीं आता है। और इस शब्द का वर्णन पूरे शिव पुराण में कहीं भी नहीं है।

 पंडितों ने बताया कि आप ऐसी झूठी अफवाहों के घेरे में बिल्कुल भी ना आए। कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण के नाम से वायरल हो रहा है या सब झूटी अफवाह है।

जादा जानकारी के लिए आप यह यूट्यूब वीडियो देख सकते हैं जिसमें corona raksha kavach shiv puran कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण के बारे में बताया गया है।


 उम्मीद करता हूं कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी जिसमें मैंने पूरी बताया है कि कैसे कोरोना रक्षा कवच शिव पुराण के नाम सेवायरल हो रहा है और इसमें कोई सच्चाई नहीं है।

Post a Comment

Previous Post Next Post

Translate